उत्तराखण्ड

चमोली में नमामि गंगे प्लांट पर हृदय विदारक हादसे में 15 की मौत

हादसे में सात लोग घायल, 2 गंभीर घायलों को एयरलिफ्ट कर एम्स लाया गया

देहरादून। उत्तराखंड के सीमांत जनपद चमोली में आज सुबह हुए दर्दनाक हादसे में 15 लोगों की जान चली गई। जबकि सात लोग घायल हो गए। हादसे में गंभीर रूप से घायल 2 लोगों को एअरलिफ्ट कर ले जाया गया है उसका उधर मुख्यमंत्री ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार आज सुबह चमोली में नमामि गंगे प्रोजेक्ट की साइट पर काम चल रहा था । हादसे के दौरान 22 लोग साइट पर मौजूद थे। इसी दौरान अचानक साइट पर करंट फैल गया जिससे सभी लोग इसकी चपेट में आ गए। इनमें से 15 लोगों की मौत की सूचना है। जबकि 7 लोग घायल हो गए। इनमें से 2 की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें एयरलिफ्ट कर एम्स भेज गया है। एसडीआरएफ डीआईजी रिडीम अग्रवाल के अनुसार मृतकों की संख्या 15 पहुंच गई है।

चमोली ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता अमित सक्सेना के अनुसार की रात को बिजली का तीसरा फेस डाउन हो गया था। बुधवार सुबह के समय तीसरे फेस को जोड़ा गया तो इससे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट परिसर में करंट दौड़ गया। ट्रांसफार्मर से लेकर मीटर तक कहीं भी एलटी और एसपी के तार नहीं टूटे हैं। मीटर के बाद तारों में करंट आया है।

स्थानीय लोगों के अनुसार रात में यहां रहने वाले केअर टेकर का सुबह फोन नहीं लग रहा था जिसके बाद परिजनों ने आकर साइट पर उसकी खोजबीन की तो पता चला कि केयरटेकर की करंट लगने से मौत हो गई है। यह खबर फैलते ही परिजनों के साथ कई ग्रामीण भी साइट पर पहुंच गए। तब तक वहां पुलिस आ गई थी, इसी दौरान वहां पर दोबारा करंट फैल गया। जिसकी वजह से कई लोग इसकी चपेट में आ गए। घटना में घायल लोगों की हालत गंभीर है। जिससे मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चमोली जनपद में हुई दुखद घटना पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए मृतकों की आत्मा की शांति एवं उनके परिवारजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि चमोली जनपद में बिजली के करंट लगने से लोगों के घायल एवं हताहत होने की सूचना मिली है। जिलाधिकारी चमोली को घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं। बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। घायलों को हायर सेंटर रेफर करने के लिए हेलीकॉप्टर की सेवाएं ली जा रही है। सरकार और प्रशासन के द्वारा राहत एवं बचाव कार्य किए जा रहे हैं। अनुमन्य सहायता राशि शीघ्र उपलब्ध कराई जाएगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Share