उत्तराखण्ड

वरिष्ठ भाजपा नेता वीरेंद्र दत्त सेमवाल ने सीएम धामी से की मुलाकात, मुख्यमंत्री से की ये मांगे..

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में राज्य के युवा और ऊर्जावान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य और वरिष्ठ नेता वीरेंद्र दत्त सेमवाल ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में देश में सबसे पहले उत्तराखंड राज्य में यूसीसी कानून लागू करने हेतु सेमवाल ने सीएम धामी को हार्दिक बधाई दी।

सेमवाल ने कहा कि भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में चल रही डबल इंजन सरकार के कार्य सराहनीय हैं लेकिन राज्य के बुद्धिजीवियों और समाज में प्रभावी ढंग से कार्य करने वाली संस्थाएं जिन कुछ ज्वलंत मुद्दों को उठा रही हैं लोकसभा चुनावों से पूर्व उनके समाधान के प्रयास और लोगों में विश्वास जगाने की आवश्यकता है। ऐसे समय में जब मोदी सरकार द्वारा शिक्षा, पर्यटन और स्वास्थ्य के क्षेत्र को अधिकाधिक सुदृढ़ करने के लिए पर्याप्त सहयोग और बजट मिल रहा है तो मुख्यमंत्री को विशेष ध्यान देते हुए उत्तराखंड के दुर्गम और उपेक्षित क्षेत्रों के ठोस विकास को सुनिश्चित करना है।

एक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ पर्वतीय लोक विकास समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र दत्त सेमवाल ने कहा कि, टिहरी गढ़वाल में अधिक से अधिक उच्च शिक्षण और तकनीक संस्थान, घनसाली को जिला बनाने और ओबीसी क्षेत्र घोषित करने, बूढ़ा केदार पंवाली मोटर मार्ग, पांचवां धाम खतलिंग के ठोस विकास, घनसाली में डिग्री कॉलेज और केंद्रीय विद्यालय तथा बालगंगा घाटी के बेलेश्वर और भिलंग के पंजा स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक और आवश्यक मशीनें उपलब्ध करवाने जैसी मांग हमारी प्राथमिकता में हैं, सीएम साहब इन पर शीघ्रता से और गंभीरता से ठोस निर्णय लेंगे।

इस मुलाकात के अवसर पर सेमवाल ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी को आगामी 24 मार्च 2024 को नोएडा में पर्वतीय लोकविकास समिति के 20वें स्थापना दिवस समारोह में सम्मिलित होने का भी निमंत्रण दिया।

The post वरिष्ठ भाजपा नेता वीरेंद्र दत्त सेमवाल ने सीएम धामी से की मुलाकात, मुख्यमंत्री से की ये मांगे.. first appeared on Bharatjan Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share