उत्तराखण्ड

विवाह में अत्यधिक धन का व्यय समुदाय के हित में नहीं: शर्मा 

लोक पंचायत की बैठक आयोजित, 14 जनवरी को महायज्ञ के आयोजन का निर्णय

विकासनगर। सामाजिक सरोकारों को समर्पित लोक पंचायत की बैठक में निर्णय लिया गया है कि आगामी 14 जनवरी को मकर संक्रांति के दिन हरिपुर यमुना के तट स्थित हरिघाट में प्रत्येक वर्ष की भांति इस बार भी महायज्ञ ,प्रवचन एवं भंडारे का आयोजन भी होगा।

बैठक में जौनसार बावर क्षेत्र में बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति पर रोक लगाना, शादी विवाह में अत्यधिक खर्च करने पर भी चिंता व्यक्त की गई और इसके समाधान के लिए समाज को आगे आने का आह्वान किया गया।
जीवनगढ़ स्थित लोक पंचायत कार्यालय में आयोजित बैठक में लोक पंचायत के वरिष्ठ सदस्य श्रीचंद शर्मा ने कहा है कि सामाजिक ताना-बाना बनाए रखने के लिए समाज के अंदर व्याप्त कुरीतियों को समाप्त किया जाना चाहिए और नई परंपराओं का प्रारंभ होना चाहिए।

उन्होंने कहा है कि जिस प्रकार से जौनसार बावर में शादी विवाह में अत्यधिक धन का व्यय हो रहा है वह किसी भी जाति व समुदाय के हित में नहीं है। उन्होंने कहा है कि निश्चित धनराशि शादी विवाह में खर्च करनी चाहिए ताकि समानता का भाव बना रहे।
इस मौके पर जमुना तीर्थ समिति हरिपुर के अध्यक्ष गंभीर चौहान ने कहा है कि हरिपुर में इस बार व्यापक स्तर पर मकर संक्रांति पर हवन, कीर्तन एवं प्रवचन कहां माह अनुष्ठान होगा। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री ने घाट निर्माण की जो घोषणा की है उसका कार्य कुछ ही दिनों के पश्चात प्रारंभ होने वाला है।
लोक पंचायत के वरिष्ठ सदस्य एवं सूचना विभाग के संयुक्त निदेशक केएस चौहान ने कहा है कि लोक पंचायत सामाजिक जागरण का एक महत्वपूर्ण मंच है लोक संस्कृति रीति, रिवाज व परंपराओं को जीवित रखते हुए संगठन समाज जागरण के क्षेत्र में विस्तार कर रहा है।

उन्होंने कहा है कि भविष्य में लोक पंचायत के अंतर्गत कार्य करने वाले छोटे-छोटे समूहों का एक बड़ा सम्मेलन किया जाएगा। जौनसार बावर क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले महानुभावों को भी सम्मानित किया जाएगा।
लोक पंचायत के सदस्य एवं विधानसभा के पूर्व सूचना अधिकारी भारत चौहान ने कहा है कि संगठन विस्तार के लिए नए-नए कार्यकर्ताओं को जोड़ना चाहिए ताकि वह अपने समाज के अंदर अच्छे कार्य अच्छे कार्य समाज जागरण समाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाये।

समय-समय पर रक्तदान शिविर, निशुल्क चिकित्सा शिविर, सेवानिवृत कर्मचारियों के सम्मेलन, पत्रकार सम्मेलन, संस्कृत कार्यों के सम्मेलन, पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग आदि कार्य होते रहना चाहिए। ताकि हर व्यक्ति समाज हित के लिए अपना योगदान दें।
बैठक में अनिल तोमर, सतपाल चौहान, प्रीतम सिंह, डॉ विनोद जोशी, कांति चौहान, खजान चौहान, मुकेश, जवाहर राणा, सुनील शर्मा, सुरेश चौहान, आदि सहित अनेक लोगों उपस्थित थे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share