उत्तराखण्ड

श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में दो दिवसीय प्रदेश स्तरीय कान्फ्रेंस आज से

यूपी, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड सहित अन्य प्रांतों के करीब 200 विशेषज्ञ रहेंगे मौजूद

प्रदेश के मा. चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री जी की पहल पर शुरू हो रही कान्फ्रेंस की सीरीज

एचएनबी उत्तराखंड चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.(डा.)  हेम चन्द्रा होगे मुख्य अतिथि

श्रीनगर। श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में एनेस्थीसिया एवं उत्तराखंड सोसायटी आफ एनेस्थीसियोलाजिस्ट  (उक्सा) के तत्वावधान में आई.एस.ऐ. सेन्ट्रल जोन एवं उतराखंड स्टेट द्वारा शनिवार से दो दिवसीय कान्फ्रेंस शुरु होगी। जिसमें दो कार्यशाला भी आयोजित है। इसमें देश के विभिन्न प्रान्तों से 200 से अधिक विषय विशेषज्ञो द्वारा प्रतिभाग के साथ साथ एनेस्थीसिया में आधुनिक व अपडेटेड सेमिनार, वर्कशॉप, हैंड्स आन ट्रेनिंग, प्लेनरी सेशन, रिसर्च पेपर व पोस्टर प्रजेंटेशन व अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कान्फ्रेंस का उद्घाटन एचएनबी उत्तराखंड चिकित्सा शिक्षा विवि के कुलपति प्रो. हेम चन्द्रा द्वारा किया जायेगा।

उक्त जानकारी देते हुए एनेस्थसिया विभाग के प्रोफेसर विभागाध्यक्ष एवं आयोजन सचिव डा. अजेय बिक्रम सिंह ने कहा कि उत्तराखंड राज्य के पहले मेडिकल कॉलेज श्रीनगर में उत्तराखंड की यह पहली जोनल कान्फ्रेंस आयोजित की जा रही है। यह कान्फ्रेंस चिकित्सकों व अध्ययनरत पी.जी. इन्टर्न व एम.बी.बी.एस. छात्र छात्राओं के लिए एनेस्थीसिया में नई स्किल व तकनीकों से लाभान्वित व अपडेट होगे, जिसमें मरीजों को बहुत लाभ मिलेगा।

कान्फ्रेंस का उद्घाटन शनिवार सुबह आठ बजे होगा। आयोजन चेयरमैन प्रो. सुरिन्द्रर सिंह ने बताया कि कान्फ्रेंस में देश के यूपी, मध्यप्रदेश, छत्तीगढ़, उत्तराखंड सहित अन्य प्रांतों के 200 से अधिक डिलेगेट्स प्रतिभाग करेगे। कान्फ्रेंस में स्किल्स के साथ ही चिकित्सा सेवा में एंडवास टैक्नोलॉजी पर प्रशिक्षण होगा।

उत्तराखंड के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत के स्पष्ट निर्देश हैं कि एम्स की तर्ज पर प्रत्येक विभाग सतत् कान्फ्रेंस, वर्कशॉप व सिम्पोजियम कराते रहें क्योंकि कि तृतीय सन्दर्भण के चिकित्सालय हेतु यह बहुत जरूरी अतिआवश्यक है  तभी छात्रों की गुणात्मक पढ़ाई के साथ साथ यहां आने वाले मरीजो को भी उच्च स्तर का इलाज मिलेगा।

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. सी.एम.एस. रावत ने बताया कि पहली बार यह दो दिवसीय राज्य के राजकीय श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में आयोजित होगी। कान्फ्रेंस का मुख्य उद्देश्य विशेषज्ञ एनेस्थेटिक चिकित्सकों व अध्ययनरत पी.जी. विधार्थियों द्वारा अपडेटेड नया ज्ञान व नये कौशल ग्रहण कर मरीजों को गुणवत्तापूर्ण और बेहतर से बेहतर सुविधा प्रदान करना होगा। इस महत्वपूर्ण कान्फ्रेंस के आयोजन पर प्राचार्य ने आयोजक चेयरमैन प्रोफेसर सुरिंदर सिंह व आर्गेनाइजिग सेक्रेटरी प्रोफेसर विभागाध्यक्ष डॉ अजय विक्रम सिंह व उनकी पूरी एनेस्थीसिया टीम की प्रशंसा कर शुभकामनाएं दी है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share