उत्तराखण्ड

स्वास्थ्य विभाग में रिक्त पदों को शीघ्र भरा जायेगाः डॉ. धन सिंह रावत

विभागीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश

कहा, बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिये पर्याप्त स्टॉफ जरूरी

देहरादून। चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत लम्बे समय से रिक्त पड़े विभिन्न संवर्गों के पदों को शीघ्र भ्ररने के निर्देश दिये हैं। इसके अलावा चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड द्वारा चयनित ऐसे असिस्टेंट प्रोफेसरों जिन्होंने विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में कार्यभार ग्रहण नहीं किया है उनकी जगह प्रतीक्षा सूची से नये चिकित्सकों को नियुक्ति प्रदान की जायेगी। इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को निर्देश दे दिये गये हैं।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज यमुना कॉलोनी स्थित शासकीय आवास पर स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने विभाग में लम्बे समय से विभिन्न संवर्गों के अंतर्गत रिक्त चल रहे पदों को शीघ्र भरने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।

उन्होंने कहा कि सूबे में चिकित्सकीय सेवाओं को और सुदृढ़ व सुलभ बनाने के लिये विभाग में विशेषज्ञ चिकित्सक, सामान्य चिकित्सक, फार्मासिस्ट, नर्सिंग पैरामेडिकल, तकनीकी स्टॉफ, विभागीय आईईसी सहित वार्ड ब्वॉय की शत-प्रतिशत तैनाती आवश्यक है ताकि प्रदेशभर के राजकीय चिकित्सालयों में आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सके।

डॉ. रावत ने कहा कि पिछले दिनों प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में राज्य चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के माध्यम से चयनित असिस्टेंट प्रोफेसर्स को नियुक्ति प्रदान की गई थी लेकिन चयनित अभ्यर्थियों में से कई ने कार्यभार ग्रहण नहीं किया जिस कारण आज भी मेडिकल कॉलेजों में कई पद रिक्त चल रहे हैं।

इस संबंध में अधिकारियों को रिक्त पदों की सूचना शीघ्र चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड को भेजने के निर्देश दिये ताकि रिक्त पदों के सापेक्ष प्रतिक्षा सूची से असिसटेंट प्रोफेसरों की तैनाती की जा सके। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग में चिकित्सकों के लम्बे समय से रिक्त चल रहे पदों के सापेक्ष संविदा पर 200 चिकित्सकों की तैनाती की जायेगी, इसी प्रकार विभिन्न चिकित्सालयों में 30 दिसम्बर तक वार्ड ब्वॉय, आशा व एएनएम की शत-प्रतिशत तैनाती जनपद स्तर पर करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य एवं अनुश्रवण परिषद सुरेश भट्ट, कुलपति चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय प्रो हेम चंद्र, अपर सचिव स्वास्थ्य नमामि बंसल, गरिमा रौंकली, अमनदीप कौर, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. विनीता शाह, निदेशक चिकित्सा शिक्षा डॉ. आशुतोष सयाना, सीएमओ देहरादून डॉ संजय जैन सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

श्रीनगर में होगा राज्य स्तरीय स्वास्थ्य चिंतन शिविर

चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि दो दिवसीय राज्य स्तरीय चिंतन शिविर का आयोजन श्रीनगर गढ़वाल में किया जायेगा। जिसमें प्रदेशभर की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को और बेहतर करने के लिये मंथन कर रोड़मैप तैयार किया जायेगा। जिसके लिये सभी जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियों को अपने-अपने जनपदों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुतिकरण देना होगा, जिसमें उपलब्ध सुविधाओं सहित भविष्य की जरूरतों पर भी विशेष फोकस किया जायेगा। चिंतन शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों एवं चिकित्सा क्षेत्र के ख्याति प्राप्त शोधकर्ताओं को भी आमंत्रित किया जायेगा। इसके लिये उच्चाधिकारियों को तैयारी के निर्देश दे दिये गये हैं।

नर्सिंग अधिकारियों को हल्द्वानी व देहरादून में दिये जायेंगे नियुक्ति पत्र

विभागीय मंत्री डॉ. धन सिंह  रावत ने कहा कि पिछले दिनों चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के माध्यम से चयनित 1377 नर्सिंग अधिकारियों को आगामी 01 दिसम्बर को देहरादून व हल्द्वानी में आयोजित स्वास्थ्य रोजगार मेले में नियुक्ति पत्र प्रदान किये जायेंगे। जिनकी तैनाती पर्वतीय एवं दुर्गम क्षेत्रों के स्वास्थ्य केन्द्रों में की जायेगी। इसके लिये स्वास्थ्य महानिदेशक को सभी तैयारियां समय पर पूर्ण करने के निर्देश दे दिये गये हैं।
डॉ. रावत ने बताया कि पिछले कई वर्षों से प्रदेश के विभिन्न राजकीय चिकित्सालयों में नर्सिंग अधिकारियों के पद रिक्त चल रहे थे जिस कारण चिकित्सालयों में आने वाले मरीजों को अपेक्षित स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल पा रही थी। नये नर्सिंग अधिकारियों की तैनाती के बाद विशेष कर पर्वतीय क्षेत्रों के साथ ही विकासखण्ड स्तर के चिकित्सा ईकाईयों में बेहतर नर्सिंग सेवाएं उपलब्ध हो सकेगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Share