अंतर्राष्ट्रीय

नारी शक्ति की भूमिका परिवार, समाज और राष्ट्र निर्माण में अतुलनीय: राज्यपाल   

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को राज्यपाल ने किया सम्मानित 

देहरादून।  राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) ने गुरुवार को राजभवन में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या में आयोजित ‘‘नारी शक्ति-राष्ट्र शक्ति’’ सम्मान समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया।

यह सम्मान कला-संस्कृति के क्षेत्र में पद्मश्री बसंती बिष्ट व ऐपण गर्ल मीनाक्षी खाती को, खेल के क्षेत्र में भारोत्तोलक प्रशिक्षक हंसा मनराल, पर्वतारोही हर्षवंती बिष्ट एवं ताशी मलिक को, पत्रकारिता में वरिष्ठ पत्रकार ज्योत्सना को, सामाजिक कार्य हेतु आसरा संस्था की संस्थापिका शैला बृजनाथ व प्रधानाचार्य हिम ज्योति स्कूल रूमा मल्होत्रा को, शिक्षा के क्षेत्र में प्रधानाचार्य राजकीय इंटर कालेज राजपुर रोड देहरादून प्रेमलता बौड़ाई और वार्डन कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय गंगोलीहाट पिथौरागढ़ रेणु साह को दिया गया। राज्यपाल ने सभी को गौरा देवी की प्रतिकृति और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर राज्यपाल ने गीता धामी को विशिष्ट अतिथि के रूप में सम्मानित किया। इसके अलावा राज्यपाल ने माता मंगला, विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खडूड़ी भूषण, कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह और मुख्य सचिव राधा रतूडी को उनके सराहनीय योगदान के लिए विशेष प्रशस्ति पत्र प्रेषित कर उन्हें सम्मान प्रदान किया।

कार्यक्रम में राज्यपाल ने 2023 की उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाओं में श्रेष्ठ स्थान प्राप्त करने वाली 04 बालिकाओं को पुरस्कृत किया, जिन्हें 50-50 हजार रूपये के चेक दिए गए। यह पुरस्कार हाईस्कूल में भागीरथी उच्चतर माध्यमिक विद्या मंदिर कण्डी छाम, टिहरी गढ़वाल की छात्रा कु शिल्पी को, इण्टरमीडिएट हेतु कला संकाय में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज चिन्यालीसौड़, उत्तरकाशी की छात्रा कु0 हिमानी को, विज्ञान वर्ग में रामलाल सिंह चौहान सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज जसपुर, उधमसिंह नगर की छात्रा कु0 तनु चौहान व वाणिज्य संकाय में सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास, ऋषिकेश की छात्रा कु0 कुमकुम जोशी को प्रदान किया गया।

राज्यपाल ने प्रदेश के राजकीय संस्थानों में अध्ययनरत 04 छात्राओं को छात्रवृत्ति भी प्रदान की। उन्होंने उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय देहरादून से सुश्री ममता सजवाण को, राजकीय महिला पॉलीटेक्निक चंदनवाडी, देहरादून से सुश्री रिया व सुश्री निजा शर्मा को और महिला प्रौद्योगिकी संस्थान सुद्धोवाला की छात्रा सुश्री प्रियंका कुकरेती को 25-25 हजार रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की। इसके अलावा राज्यपाल ने प्रदेश में सराहनीय कार्य करने वाले 15 स्वयं सहायता समूहों को 21-21 हजार रूपये के चेक प्रदान किए।

राज्यपाल ने कहा कि नारी-शक्ति की भूमिका परिवार निर्माण, समाज निर्माण व राष्ट्र निर्माण और इन तीनों के विकास में अतुलनीय है। हमारे देश में मातृशक्ति हर एक क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का बखूबी प्रदर्शन कर रही हैं। हमें मातृशक्ति पर गर्व है कि उनका यह योगदान देश को और भी समृद्धि एवं प्रगति की ओर ले जा रहा है। उत्तराखंड की मातृशक्ति सबसे अलग है उनकी क्षमता, प्रतिभा और उनका हौसला सराहनीय है। प्रदेश में स्वयं सहायता समूह, आशा, नर्सिंग और आंगनबाड़ी कार्यकत्री के रूप में महिलाएं उत्कृष्ट कार्य कर रही हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि उत्तराखण्ड की बेटियां समाज व प्रदेश में क्रांति लायेंगी।

राज्यपाल ने कहा कि समाज-सुधार, राजनीति, अर्थ-व्यवस्था, शिक्षा, विज्ञान व अनुसंधान, व्यवसाय, खेल-कूद और सैन्य बलों तथा अनेक अन्य क्षेत्रों में हमारी बहनों और बेटियों ने अमूल्य योगदान दिया है। ऐसी कितनी ही महिलाएं हैं जो प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद, विभिन्न क्षेत्रों में आगे बढ़कर नेतृत्व प्रदान कर रही हैं।

राज्यपाल ने कहा कि आज हर क्षेत्र में नारी-शक्ति की उपलब्धियां बढ़ती ही जा रही हैं। आज महिलाएं ऐसे-ऐसे कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं, जिनकी कुछ वर्ष पूर्व कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। आज हम उनकी इन्हीं उपलब्धियों का और नारी-शक्ति की महत्ता को नमन कर रहे हैं। दुनिया भर में महिलाओं ने अपनी शक्ति और दृढ़ संकल्प से अपने देश एवं समाज को नई ऊँचाइयों पर पहुंचाया है। राज्यपाल ने विश्वास जताया कि आप सभी से प्रेरणा लेते हुए अपने उत्तराखण्ड की अन्य बेटियां देश, समाज और राष्ट्र को परम वैभव तक ले जाने के लिए प्रेरित होंगी।

इस अवसर पर प्रथम महिला गुरमीत कौर, गीता धामी, सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक सविता कपूर, बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष डॉ.गीता खन्ना, महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव राधिका झा, सचिव राज्यपाल  रविनाथ रामन, आईजी पुलिस विम्मी सचदेवा, अपर सचिव राज्यपाल स्वाति एस. भदौरिया, डीएम देहरादून सोनिका, वीसी दून विश्वविद्यालय प्रो.सुरेखा डंगवाल, वित्त नियंत्रक डॉ तृप्ति श्रीवास्तव सहित अनेक महिलाएं उपस्थित रहीं। इस अवसर पर भातखण्डे संगीत महाविद्यालय, हिम ज्योति स्कूल और देव संस्कृति विश्वविद्यालय की छात्राओं ने सुंदर प्रस्तुतियां दी।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share