उत्तराखण्ड

स्वतंत्रता प्राप्ति में नेताजी और आजाद हिन्द फौज के योगदान को नहीं भुला सकते: डॉ प्रेमचंद

ऋषिकेश। क्षेत्रीय विधायक व कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेम चंद अग्रवाल ने नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की और उनके बलिदान को याद किया।

मंत्री डॉ अग्रवाल ने कहा कि भारत की आजादी के लिये संघर्ष करते हुये अनेक क्रान्तिकारी भारतीय शहीद हुये। ऐसे ही महान क्रान्तिकारी, भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे सुभाष चन्द्र बोस। डॉ अग्रवाल ने कहा कि नेताजी एक ऐसे व्यक्तित्व थे, जिसने अपने कार्यों से अंग्रेजी सरकार के छक्के छुड़ा दिये।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान तथा स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद एक षड्यंत्र के तहत नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के योगदान को भुलाये जाने का कार्य किया गया। वर्षों से दबाई गयी नेताजी की फाईलों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा नेताजी को सम्मान दिलाने का कार्य किया गया।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि नेताजी के आह्वान ‘‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा’’ का सभी ने सम्मान किया और समूचे भारत को जोड़कर नेताजी द्वारा सबसे पहले अंडमान निकोबार द्वीप समूह में भारतीय तिरंगा ध्वज फहराकर भारत को स्वतंत्रता की घोषणा नेताजी ने ही की थी। स्वतंत्रता प्राप्ति में नेताजी और आजाद हिन्द फौज के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि नेताजी अक्सर कहा कहते थे, ‘‘कभी भी स्वतंत्र भारत के सपने का विश्वास मत खोना, दुनिया की कोई ताकत नहीं है जो भारत को झकझोर सके’’ आज हमारे सामने आजाद भारत के सपनों को पूरा करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को मन में ठान हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। आजादी के अमृत महोत्सव का संकल्प है कि भारत अपनी पहचान और प्रेरणाओं को पुनर्जीवित करें।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share