उत्तराखण्ड

घर से भागकर हरिद्वार आ गया था बालक,  एएचटीयू ने किया चाचा के सुपुर्द

हरिद्वार। अपने घर से बिना बताये भाग कर हरिद्वार पहुंचे बच्चे को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने बच्चे को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

ऑपरेशन स्माइल 2023 के तहत एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट का अभियान चल रहा है। 13 सितंबर को टीम ने हर की पैड़ी क्षेत्र से एक बालक को रेस्क्यू किया था। बालक ने अपना नाम अंसुल (11) पुत्र स्व मूंगा लाल निवासी बलसिंडा बताया था।

राजकीय बाल कल्याण समिति हरिद्वार के आदेश पर बालक को राजकीय बाल संरक्षण गृह हरिद्वार में भेजा गया। अंसुल द्वारा बताए गए स्थान बालसिंडा जो कि उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जनपद का एक कस्बा है, से बालक के परिजनों की तलाश करने पर टीम ने बालक के परिजन (सगे चाचा ओमप्रकाश) को खोज निकाला।

बालक के चाचा ने बताया कि बालक के माता-पिता का बचपन में ही स्वर्गवास हो गया था। तब से वह उनके साथ ही रह रहा है। 24 जुलाइ को बालक घर से बिना बताए कहीं चला गया था। जिस पर उन्होंने रिश्तेदारी में काफी दिनों तक खोजबीन की लेकिन इसका कहीं कुछ पता नहीं चला।

जिस पर उन्होंने 30 जुलाई चलने पर थाना बिलसंडा में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। भतीजे के सकुशल राजकीय बाल गृह हरिद्वार में होने की जानकारी मिलने पर उन्होंने राहत की सांस ली। सीडब्ल्यूसी हरिद्वार के आदेश पर काउंसलिंग के बाद अंशुल उसके चाचा ओमप्रकाश व फूफा रोशन लाल को सकुशल सुपर्द किया गया।

ऑपरेशन स्माइल टीम हरिदार में ये रहे शामिल

  1. SI किरन गुसाईं
  2. का0 मुकेश कुमार
  3. का0 दीपक चन्द
  4. का0 मनोज कुमार
  5. म0का0 आरती
admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share