उत्तराखण्ड

अपनी कार्यशैली में सुधार लायें अधिकारी: महाराज

जनपद में पंचायतों के सशक्तिकरण के लिए 44.5 करोड़ का बजट

हरिद्वार। जनपद के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने जिला पंचायत कार्यालय सभागार हरिद्वार में अयोजित जिला पंचायत की तैमासिक बैठक में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। बैठक में 2024-25 की जिला पंचायत विकास योजना (डीपीडीपी) तैयार करने, 44.5 करोड़ के बजट से क्षेत्र पंचायतों के सशक्तिकरण, सदस्यों की एक्पोजर विजिट, हाट बाजारों की सफाई, जिला पंचायत की भूमिं का चिन्हिकरण कर उसके सदुपयोग की कार्ययोजना तैयार करने को लेकर चर्चा हुई।

शनिवार को आयोजित जिला पंचायत की त्रेमासिक बैठक में केबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने एएमए जिला पंचायत को निर्देश दिये कि जिला पंचायत सदस्यों को अन्य राज्यों की पंचायतों के भ्रमण (एक्पोजर विजिट) के लिए प्लान तैयार करें। उन्होने एएमए जिला पंचायत को निर्देश दिये कि जनपद क्षेत्रांतर्गत आने जिला पंचायत की भूमि को चिन्हित करते हुए उसपर पार्किंग, दुकान, बारात घर जैसी परिसम्पत्तियों के निर्माण प्रस्ताव तैयार करवाना सुनिश्चित करें। उन्होेने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार निरंतर पंचायतों की आय बढाने व उनके सशक्तिकरण के लिए कार्य कर रही है।

उन्होने जनपद में परिवार रजिस्ट्री की ऑनलाईन निकासी अब तक प्रारम्भ नहीं किये जाने सम्बन्धी विधायक पिरान कलियर फुरखान अहमद की शिकायत पर आईटीडीए को पत्र लिखे जाने की भी बात कही। बैठक में जिला पंचायत के सभी आय के श्रोतों की त्रैमासिक समीक्षा को लेकर भी सहमति बनी।

सदस्यों ने ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सोलर लाईट की संख्या में ईजाफा करते हुए प्रत्येक सदस्य को कम से कम 10 सोलर लाईट उपलब्ध कराने की मांग की। जिस पर प्रभारी मंत्री ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि वे अधिक से अधिक सोलर लाईट जिला पंचायत को उपलब्ध करांए ताकि दूरस्थ क्षेत्रों के लोगो समस्याओं को कम किया जा सके।

इसके उपरान्त प्रभारी मंत्री ने जिला पंचायत कार्यालय प्रांगण में आयोजित जिला स्तरीय अधिकारियों की उपस्थिति में जन-प्रतिनिधियों की शिकायतों का निस्तारण सम्बंधी बैठक में प्रतिभाग किया। बैठक के शुभारम्भ से पूर्व जन-प्रतिनिधियों ने सिलक्यारा सुरंग से मजदूरों को निकालने के लिए केन्द्र सरकार के सक्रिय सहयोग हेतु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए धन्यावाद प्रस्ताव पारित किया।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने जन-प्रतिनिधियों की शिकायतों को गम्भीरता से सुनते हुए जिला स्तरीय अधिकारियों को अपनी कार्यशैली में सुधार लाने निर्देश दिये है। उन्होने स्पष्ट किया कि किसी भी सरकारी कार्यालय में आने वाले आमजन के साथ अच्छा बर्ताव करें। प्रभारी मंत्री ने मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन को निर्देश दिये कि जन-प्रतिनिधियों द्वारा दर्ज करायी गयी शिकायतों का प्राथमिकता के आधर पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। बैठक में अधिकांश लोनिवि, सिंचाई, विद्युत व वन विभाग की शिकायतें छायी रही।

बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह (किरण चौधरी), विधायक रुड़की प्रदीप बत्रा, परियोजना निदेशक डीआरडीए केएन तिवारी, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत ईबीसी छिम्वाल, मुख्य कृषि अधिकारी विजय देवराड़ी, डीएसटीओ नलिनी ध्यानी, डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह, उपाध्यक्ष जिला पंचायत अमित चौहान, जिलाध्यक्ष बीजेपी संदीप गोयल, आशु चौधरी, जयपाल सिंह चौहान, सुशील त्यागी, आदित्य राज त्यागी सहित जिला पंचायत के अन्य सदस्य व अधिकारीगण उपस्थित थे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share